लखनऊ की जनता के लिए महंगा हुआ खाना से लेकर फिल्म देखना

681

लखनऊ। नगर निगम सदन ने बुधवार को अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए तमाम टैक्स 30 लाख की आबादी पर लगाने पर मुहर लगा दी है। कार्यकारिणी पहले ही स्वीकृति दे चुकी थी। सदन ने होटल, गेस्ट हाउस, सिनेमा घर, मल्टीप्लेक्स, प्राइवेट अस्पताल, नर्सिंग होम व बार चलाने को पहले से दस गुना तक महंगा कर दिया है। हालांकि नगर निगम का कहना है कि इसका जनता पर सीधे असर नहीं पढ़ेगा।

नगर निगम सदन की तरफ से हरी झंडी के बाद अब शहर में होटल, गेस्ट हाउस और बार चलाने को 10 गुना तक महंगा कर दिया गया है। लाइसेंस शुल्क में बढ़ोतरी के प्रस्तावों को मंजूर कर लिया गया। अब प्राइवेट नर्सिंग होम-पैथालॅाजी और सिनेमा हाल व मल्टीप्लेक्स के शो टैक्स में भी जबरदस्त इजाफा हो गया है। नगर निगम सीमा के अंदर हैलीपैड, हवाई अड्डा व हवाई पट्टियों पर यात्री कर और चार्टड विमान, हेलीकाप्टर की उड़ान पर टैक्स लगाने के प्रस्ताव को भी सदन ने पास कर दिया है। यह टैक्स पहली बार लगाया जाएगा।

एयरपोर्ट पर यात्री और उड़ान कर को मंजूरी
नगर निगम सीमा के अंदर हैलीपैड, हवाई अड्डा व हवाई पट्टियों प्रति व्यक्ति 100 रुपये और चार्टड विमान, हेलीकाप्टर की प्रति उड़ान पर 3000 रुपये टैक्स लगाया लिया जाएगा। इसका प्रस्ताव सदन ने पास कर दिया है और अब इसे शासन मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। उसके बाद यह लागू हो पाएगा।
सिनेमा घर और मल्टीप्लेक्स का शो टैक्स 24 गुना तक बढ़ाए जाने को मंजूरी

नगर निगम सदन ने सिनेमा घर और मल्टीप्लेक्स का शो टैक्स 24 गुना तक बढ़ाए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अभी सभी तरह के सिनेमा घरों से 25 रुपए प्रति शो के हिसाब से टैक्स लिया जाता था।

शो की टैक्स दरें

मल्टीप्लेक्स प्रति शो – 600 रुपये
एसी सिनेमा घर प्रति शो- 300 रुपये
साधरण सिनेमा घर प्रति शो -100 रुपये

इन पर भी सदन की मोहर

शूटिंग रेंज में शस्त्र लाइसेंस वालों के ट्रायल पर प्रति लाइसेंसी 500 रुपये शुल्क लिया जाएगा।
विज्ञापन से आय के लिए उपविधि को मंजूरी। जीएसटी आने के बाद प्रचार नियमावाली हो गई बेकार
वैवाहिक समारोह के लिए, बैंक व मोबाइल टॉवर लगाने वाले स्कूलों पर से लिया जाएगा कामर्शियल टैक्स

इन पर भी लगी मोहर

रोड कटिंग : पहले पैसा जमा करें, बताना होगा कि कहां-कितनी काटनी है सड़क। शासनादेश मंजूर नहीं।
एसटीपी के मद में राज्य वित्त से नगर निगम का पैसा काटने का विरोध।
इंदिरा नगर में स्थान बदलकर नाला बनाने के दोषी इंजीनियर पर कार्रवाई, शासन को भेजेंगे पत्र।